Home Hindi news देशभर में बढ़ रही राठी गायों के देशी घी की मांग ...

देशभर में बढ़ रही राठी गायों के देशी घी की मांग ऐसा क्यों ?

942
0
Ratni gav rathi-cow-gheee

बीकानेर की ताजा खबर: राजस्थान के पश्चिमी राज्य की सुप्रसिद राठी गयों का देशी घी आज पुरे देश भर में महक चूका है एक बार किसी ने राठी गाय का घी चक लिया तो उसका स्वाद आप भूल नहीं सकते है जिसके कारण आज पुरे देश भर में प्रसिद है

सबसे ज्यादा इन प्रदेश में मांग:-


लूणकरणसर उपखण्ड के एक छोटे से गांव रतनीसर(bikaner news in hindi) की प्रसिद राठी गायों का देशी घी की सबसे ज्यादा मांग दक्षिणी राज्य तमिलनाडु, केरला और आंध्र प्रदेश के साथ देशभर में मांग बढ़ती जा रही है पशुपालन करने वालों के लिए यह अच्छा लाभ दायक अवसर है जिसे करकर रोजगार बड़ा सकते है
राजस्थान की महाजन अंचल विशेष नस्ल की गाये आज पशुपालन करने वाले व्यक्ति के लिए वारदात साबित हो रही है इस नस्ल की गायों का घी शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में सहायक है और महाजन फिल्ड फायरिंग के युद्धाभ्यास करने वाले सेना के अधिकारी और जवान के लिए यह घी आवश्यक हो गया है और इस घी को ऑनलाइन पार्सल के द्वारा भी मंगवाते है

राठी गाय पशुपालन करने वाले के वरदान:- बीकानेर की ताजा खबर आज की


गावों में इंटरनेट सुविधा होने के कारण आज ऑनलाइन बिजेनस करने वाला को लाभ हुआ है जिसके चलते आज रेतीले प्रदेश के बीच में बसे रतनीसर गांव से राठी गायों का घी ऑनलाइन बेचना संभव हुआ है यह गांव लगभग 90 घरों से बसा हुआ है इस गांव में पांच हजार से अधिक राठी गायों का पशुपालन किया जाता है और हर सुबह पशुपालकों के घर से बिलौने और गायों के रंभाने की आवाज सुनी जाती है जो बहुत अच्छी लगती है

पशुपालन करने वालो का कहना:- बीकानेर की ताजा खबर


बीकानेर की ताजा खबर, पशुपालन करने वाले शीशराम ने बताया की पशुपालन का महत्व पशुपालन करने वाला ही जान सकता है क्यों कुछ समय पहले इन गायों के दूध से इनके चारे-पूस का खर्चा भी नहीं निकलता था गांव वालों ने सोशल मिडिया पर रतनीसर की राठी गायों के देशी घी का प्रचार किया तो उससे अच्छा परिमाण मिला दक्षिणी राज्यों में कई सैनिक परिवार डाक पार्सल के द्वारा घी मंगवाते है

यह भी पढ़े:- पपला गुर्जर और जिया की इस तरह शुरू हुई प्रेम कहानी जाने…

यह भी पढ़े:- फैशन क्या है ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here