Home Hindi news गर्भावस्था में सूखी खांसी : परेशानी में ये घरेलू नुस्खे दिला सकते...

गर्भावस्था में सूखी खांसी : परेशानी में ये घरेलू नुस्खे दिला सकते हैं, तुरंत आराम

284
0
dry-cough-in-pregnancy-these-home-remedies-can-provide-instant-relief

गर्भावस्था में सूखी खांसी : सूखी खांसी एक बहुत ही आम समस्या है, जो कुछ ही दिनों में ठीक हो जाती है। लेकिन अगर यह समस्या गर्भवती महिलाओं में हो जाए तो समस्या और बढ़ जाती है, क्योंकि गर्भवती महिलाओं की रोग प्रतिरोधक क्षमता पहले से ही कमजोर होती है। कमजोर हो जाता है। प्रेग्नेंसी में जैसे-जैसे समय बढ़ता है उठने-बैठने में दिक्कत होती है। गर्भावस्था में सूखी खांसी की समस्या होने पर सांस लेने में तकलीफ, पेट और पसलियों में दर्द और बुखार होता है। खांसने से पेट पर दबाव पड़ता है, जिससे गर्भ में पल रहा बच्चा भी प्रभावित हो सकता है। अधिक दवाइयां खाना भी सही नहीं है, ऐसे में कुछ घरेलू नुस्खे इसमें कारगर होते हैं।

गर्भावस्था में सूखी खांसी (Dry cough in pregnancy) के कारण

सूखी खांसी तब भी होती है, जब नाक के अंदर म्यूकस मेम्ब्रेन में सूजन आ जाती है। जब एसिड श्वसन पथ में प्रवेश करता है, तो यह श्वासनली की सूजन का कारण बनता है, जिससे सूखी खांसी होती है। वायरल इंफेक्शन भी सूखी खांसी का एक आम कारण है।

गर्भावस्था में होने वाले रोग

Dry cough in pregnancy के दौरान लगभग सभी महिलाओं को कब्ज की समस्या का सामना करना पड़ता है। आमतौर पर यह पहली तिमाही में ही शुरू हो जाता है। अगर ध्यान न दिया जाए तो इससे बवासीर या पाइल्स की बीमारी भी हो सकती है। यदि अनुपचारित छोड़ दिया जाए, तो इससे खूनी बवासीर हो सकती है, जिससे गर्भावस्था के दौरान रक्ताल्पता या रक्ताल्पता हो सकती है।

इस पोस्ट को भी देखें > A beautiful and cheap hill station in India

उपाय

1. नमक के पानी से गरारे करें

गरारे करने के लिए हमेशा से नमक के पानी का इस्तेमाल किया जाता रहा है। गर्भावस्था के दौरान सूखी खांसी से छुटकारा पाने के लिए नमक के पानी से गरारे करना एलर्जी और गले की खराश में नमक के पानी से गरारे करना बहुत फायदेमंद होता है। दिन में दो से तीन बार गरारे करने से खांसी जल्दी ठीक होती है।

2. शहद

शहद में एंटी बैक्टीरियल और एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं। ऐसे में सूखी खांसी का इलाज शहद से संभव है। गर्भवती महिलाओं को सूखी खांसी होने पर शहद का सेवन करना चाहिए। इससे रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी और संक्रमण से भी बचाव होगा। कई अध्ययनों में यह भी पाया गया है कि खांसी में दवाओं से ज्यादा शहद फायदेमंद होता है।

3. अदरक

अदरक अपने औषधीय गुणों के लिए जाना जाता है। इससे सूखी खांसी की समस्या दूर हो सकती है। अदरक में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं। इसके सेवन से खांसी और गले के दर्द में काफी आराम मिलता है। गर्भावस्था में सूखी खांसी होने पर अदरक को पानी में उबालकर पिएं, इसके अलावा अदरक को पीसकर उसमें एक चुटकी नमक मिलाकर मुंह में रखें, इसका सीधा असर होगा। इससे बहुत जल्द आराम मिलेगा।

4. लहसुन

लहसुन को भी सूखी खांसी में काफी फायदेमंद माना गया है। लहसुन में एंटीऑक्सीडेंट, एंटीबैक्टीरियल, एंटीवायरल और एंटीबायोटिक गुण होते हैं, यह गले के दर्द से जल्द राहत दिला सकता है। ऐसे में लहसुन की दो कलियां पीस लें और फिर उसमें शहद मिलाकर खाएं। ऐसा दिन में दो से तीन बार करें, सूखी खांसी से जल्द आराम मिलेगा।

5. मुलेठी

मुलेठी का उपयोग पारंपरिक रूप से खांसी और गले से संबंधित समस्याओं में किया जा रहा है। अगर आप सूखी खांसी से परेशान हैं तो मुलेठी का एक टुकड़ा मुंह में रखकर चूसते रहें, इसके अलावा मुलेठी में पानी उबालकर उसका पानी पिएं, इससे जल्द ही राहत मिलने की उम्मीद है।

जल्दी प्रेग्नेंट होने के 7 उपाय

A. सही उम्र में करें प्रेग्नेंट डॉक्टर प्रेग्नेंसी के लिए 18 से 28 साल के बीच की सही उम्र बताते हैं।

B. पहली बार गर्भपात न कराएं

C. मासिक धर्म को नियमित करें।

D. ओव्यूलेशन पीरियड पर नजर रख

E. वजन पर नियंत्रण रखें

F. स्वस्थ आहार।

G. गर्भाधानचंद्रमा।

इस खबर को भी देखें > किसान : किसान और उपभोक्ता, दयनीय दशा और दिशा?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here