Home Education दिल्ली के स्कूलों की गर्मी की छुट्टियां खत्म, लेकिन कोरोना के बढ़ते...

दिल्ली के स्कूलों की गर्मी की छुट्टियां खत्म, लेकिन कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते स्कूल कैसे खुलेंगे?

51
0
School summer holyday end

school summer holiday ends :- जैसा की हम जानते हैं कि स्कूलों की गर्मियों की छुट्टियां समाप्त होने वाली हैं। और विद्यार्थी यह सोच रहे थे की अब हमारी स्कूल खुलेगी और दोस्तों से मिलेंगे, मौज मस्ती करेंगे और जी जान से पढ़ेंगे। ऐसे विद्यार्थियों की आशाओं पर रोक लगाने के लिए कोरोना वायरस वापस आ गया हैं जी हां, सच में वही कोरोना वायरस जिसने पिछले साल भी इन्ही विद्यार्थियों की आशाओं पर रोक लगाया था उसने आजकल रफ़्तार पकड़ ली हैं जी हाँ , कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या दिन भर दिन बढ़ते ही जा रही हैं।

ऐसे में विद्यार्थीयों के पता पिता सोच रहे होंगे की, इस बढ़ती बीमारी में हम्हारे बच्चे को कैसे स्कूल भेजे। लेकिन उन्ही माता पिता के खुश खबरि हैं की स्कूलों के प्रिंसिपलों का कहना हैं की आज कल यह बीमारी स्थानीय चरण के करीब हैं।

अर्थात कोरोना की गति पिछले वर्ष से काम हो चुकी हैं और कोरोना के मरीजों की संख्या भी कम हो रही हैं कोरोना पहले जिस लेवल पर भयानक था आज वेक्सीन आने के बाद इसकी लेवल काम हो गई हैं या यूह कहे की कोरोना अब ख़त्म होने की कदार पर हैं, इसलिए हमें बीमारी की चिंता किए बिना इसके साथ रहने की आदत डालनी होगी। इससे डरे बिना सभी सावधानियों का पालन करते हुए बच्चों की शिक्षा के साथ-साथ स्वास्थ्य का भी ध्यान रखना होगा। इसके लिए स्कूलों में तैयारी भी शुरू कर दी गई है।

शिक्षकों और छात्रों की सुरक्षा का रखा जाएगा विशेष ध्यान| school summer holiday ends

एक तरफ जहां स्कूलों की छुट्टियां खत्म हो वाले हैं वही बढ़ते कोरोना के मरीजों की सख्या चिंता बढ़ते ही जा रही हैं। लेकिन यह तो साफ हो गया हैं की ऐस बार ऑफलाइन क्लासेज के साथ समझोत नहीं किया जाएगा ऑफलाइन क्लासेज लगातार लगेगी और विद्यार्थी स्कूलों ही पढ़ेंगे। इसी के साथ साथ शिक्षक और विद्यार्थी की सुरक्षा का ध्यान रखा जाएगा।

स्कूलों में होंगी ये व्यवस्था-

पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक स्कूलों में कोरोना वायरस से बचाव के लिए कई इंतजाम किए गए हैं. जैसे कि कक्षा के अंदर मास्क लगाना अनिवार्य करना, हाथों को सेनेटाइज करना, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना, झुंड न बनने देना आदि। साथ ही बच्चों को हाइड्रेट रखने के लिए अलग-अलग जगहों पर वाटर कूलर लगाए गए हैं, वहां पर मास्क नहीं लगाने के निर्देश दिए गए हैं।क्योकि वह पर गर्मी ज्यादा होती हैं और बच्चो को कोई परेशानी न हो इसलिए यह कदम उठाया हैं।

साथ ही जिन बच्चों को कोई बीमारी है उनके लिए वैकल्पिक व्यवस्था की जा रही है ताकि उनकी पढ़ाई छूट न जाए.

इसे भी पढ़ें :- vardhan puri How Amrish Puri helped Vardhan Puri\

इसे भी पढ़ें :- TOP 10 ATTRACTIVE JUTI FOR GIRLS DESIGN 2022

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here