Home राजनीति Hindi news kisan protest in Delhi > युवराज सिंह आए किसानों के समर्थन में,...

kisan protest in Delhi > युवराज सिंह आए किसानों के समर्थन में, आज फ्री होंगे टोल टेक्स

1030
0
kisan andolan news in hindi

आज की ताजा खबरें :- कृषि कानूनों के विरोध किसानों का आंदोलन यानिकि 12 दिसंबर को उग्र

रूप होने की संभावना बताई जा रही है. मतलब की , किसानों के संगठनों ने दिल्ली-जयपुर राष्ट्रीय

Rajmarg को ठप करनी की चेतावनी दी गई है, 9 december के प्रस्तावों को सरकार के ठुकराने

के बाद किसानों ने अपने आंदोलन को और तेज कर दिया है, वहीं दूसरी ओर किसानों ने टोल

प्लाजा को घेरने की बात कही है, इसी को ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार ने फरीदाबाद और

गुरुग्राम में पुलिस को अलर्ट रहने के आदेश दिए गये है और सुरक्षा को बढ़ाये जाने के लिए पुख्ता

इंतजाम किए गए हैं|

अडानी और रिलायंस के टोल प्लाजा फ्री करवाएगी = kisan protest in delhi


बलबीर राजेवाल एस ने कहा है कि अडोनी और रिलायंस के टोल प्लाजा को फ्री करेंगे.

14 decembere को भाजपा नेताओं के घर और डीसी ऑफिस का घेराव किया जाएगा।

और आप को जानकारी बता दे. भारतीय किसान संगठन ने कृषि बिल के

खिलाफ में सुप्रीम कोर्ट में मामला दायर कर चुकी है ये किसान विरोधी कानून हैं|

आंदोलन को और गति सील बनाने के लिए पारंपरिक हथियारों से जाने वाले निहंग सिखों ने भी

किसानों आंदोलन के समर्थन देने का फैसलाकर चुके है, देश के अलग अलग जगह से निहंगों

के समूह दिल्ली पहुंच रहे हैं. शुक्रवार और ऐसे 1 ,2 दिनों से सिंघु बॉर्डर पर कई जत्थों के समूह

ने दस्तक दी. बताया जा रहा है कि छत्तीसगढ़ से भी किसानों के समर्थन में भी जत्था ने सिंधु

बॉर्डर पर पंहुचा कर प्रदर्शन में शामिल हुए, वहीं आम पार्टी के कई नेता और कांग्रेस के पार्टी के

कुछ नेता किसान आंदोलन के समर्थन में उतर आई है |

पर्व किर्केटर युवराज सिंह किसान आंदोलन के समर्थन में आए |


इंडिया टीम के दिग्गज एवं ऑलराउंडर युवराज सिंह भी किसान आंदोलन के समर्थन में आए. ऐसी की

चलते उन्होंने अपना जन्म दिन भी सेलिब्रेट नहीं करने का फैसला किया है, अपने जन्म दिन पर

अपनी इच्छा जाहिर करते हुए कहा की वह चाहते हैं किसानों की सारी मांगें जल्दी से पूरी जाए किसानों

यूनियन ने नहीं दिया जवाब : नरेंद्र सिंह कृषिमंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा की केंद्र सरकार ने किसान

यूनियनों को जो प्रस्ताव भेजा गया था, उसका अभी तक कोई जवाब नहीं आया है, हमें इस की जानकारी

मीडिया से मिल रही है कि किसान यूनियन ने प्रस्ताव को खारिज कर दिया है, लेकिन कृषिमंत्री

का कहना है की इसकी कोई सूचना नहीं दी गई. अत: किसानों को किसी प्रावधान पर अभी भी आशंका है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here