Aaj Ki Taaja Khabren

Imran khan Arrest : Imran khan को गिरफ़्तार होते हि पाकिस्तान में गृहयुद्ध जैसे हालात, PTI समर्थकों के निशाने पर पाकिस्तान सेना

Imran khan Arrest

Imran khan Arrest:पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को 9 मई को अर्धसैनिक बलों द्वारा भ्रष्टाचार के मामले में गिरफ्तार किए जाने के बाद से ही पूरा पाकिस्तान आग के हवाले हो चुका है। जगह-जगह इमरान खान और उनकी पार्टी PTI के समर्थक आगजनी और दुकानों व घरों से खाने-पीने के सामानों की लूटपाट भी कर रहे हैं

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को 9 मई को अर्धसैनिक बलों द्वारा भ्रष्टाचार के एक मामले में गिरफ्तार किए जाने के बाद से ही पूरा देश आग के जाल मे लिपट रह है जगह-जगह इमरान खान और उनकी पार्टी PTI के समर्थक आगजनी और दुकानों व घरों से खाने-पीने के सामानों की लूट भी कर रहे हैं। इस दौरान बुधवार को इमरान खान को कोर्ट में भी पेश भी करना है। मामले को मद्देनजर रखते हुए सुरक्षा बेहद कड़ी कर दी गई है। पुलिस लाइन हेड क्वार्टर में ही इमरान खान की पेशी कराई जाएगी।

मामले को मद्देनजर रखते हुए सुरक्षा बेहद कड़ी कर दी गई है। पुलिस लाइन हेड क्वार्टर में ही इमरान खान की पेशी कराई जाएगी।पाकिस्तान में 9 मई को इमरान खान की गिरफ्तारी के बाद से पाकिस्तान मे हंगामा जारी है। हाई कोर्ट से गिरफ्तार होने के बाद इमरान के समर्थक उग्र हो गए और प्रमुख पाकिस्तानी इमारतों पर हमला बोल दिया। शाम से शुरू हुआ हिंसक प्रदर्शन कल रात भी जारी रहा।

कई जगहों पर भीड़ को काबू में करने के लिए पुलिस ने फायरिंग भी की जिसमें कई घायल हुए और कुछ की मौत भी हो गई। 9 मई कि रात को सेना ने इमारतों को PTI समर्थकों के कब्जे से मुक्त कराने के लिए ऑपरेशन चलाया। इमरान खान समर्थकों ने शहबाज के निजी आवास और लाहौर में कोर कमांडर के घर को आग से भस्म कर दिया और बैकों को लूट लिया। 10 मई को इमरान को कोर्ट में पेश किया जाएगा, ऐसे में आज भी पाकिस्तान में हंगामा जारी रह सकता है।

इमरान को कॉलर से पकड़कर घसीटते हुए ले जाते सैनिक उन्हें एक जेल वाहन में बैठाते हुए देखा गया गृह मंत्रालय के तहत काम करते हैं और आमतौर पर सेना से आये अधिकारियों द्वारा निर्देशित होते हैं। NAB के एक अधिकारी ने पुष्टि की कि,इमरान खान को भूमि, सम्पत्ति कारोबारी रियाज को हस्तांतरित करने के एक मामले में गिरफ्तार किया गया है और उन्हें NAB को सौंपा जा रहा है।’’ उन्होंने बताया कि इमरान खान को अल-कादिर मामले में गिरफ्तार किया गया है, जो पंजाब प्रांत के सोहावा क्षेत्र में सूफीवाद के लिए अल-कादिर विश्वविद्यालय की स्थापना से संबंधित है। 1 मई को जारी किए गए इमरान के गिरफ्तारी वारण्टी में कहा गया है कि उन पर भ्रष्टाचार का आरोप है।


इमरान खान की गिरफ्तारी की खबर फैलते ही पाकिस्तान के शहरों में बड़े पैमाने पर विरोध शुरू हो गए। कई जगहों पर प्रदर्शनकारी हिंसक हो गए और पुलिस वाहनों को आग लगा दी और सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाया। पहली बार,इमरान खान के समर्थकों ने रावलपिंडी के मुख्य द्वार को तोड़ दिया, जहां सैनिकों ने संयम बरता। प्रदर्शनकारियों ने प्रतिष्ठान के खिलाफ नारेबाजी की। लाहौर में, बड़ी संख्या में PTI कार्यकर्ताओं ने कोर कमांडर के लाहौर आवास पर धावा बोल दिया और गेट और शीशे तोड़ दिए।